Trending News... Latest Updates

समुद्री ताकत बढ़ाने में जुटा चीन , अमेरिका और रूस को टक्कर दे रहा चीन

0 66

LCW India , Hyderabad: समुद्री ताकत बढ़ाने में जुटा चीन
समुद्री ताकत बढ़ाने में जुटे चीन ने अपने पहले स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर शैंगडोंग को नौसेना में शामिल कर लिया है…..55 हजार टन वजनी जहाज पीपुल लिबरेशन आर्मी नेवीज की महत्वकांक्षाओं में जबरदस्त उभार है……लिओनिंग के बाद यह चीन का दूसरा एयरक्राफ्ट कैरियर है…लिओनिंग वास्तव में 1980 के दशक के मध्य में सोवियत संघ में बना था…और इसे डेलियान में पुन: निर्मित किया गया…इसे पीएलएएन में 2012 में एक ट्रेनिंग शिप के तौर पर शामिल किया गया

दो से ज्यादा एयरक्राफ्ट कैरियर वाले देशों में शामिल
दुनिया में अगर किसी भी खास मुकाम को हासिल करने वाले देशों की बात करें….तो उस फेहरिस्त में चीन का नाम जरूर शामिल होता है…..अब अगर एयरक्राफ्ट कैरियर की बात ही की जाए…..तो दुनिया में महज चार ऐसे देश हैं…..जिनके पास दो या दो से ज्यादा एयरक्राफ्ट कैरियर हैं…..इनमें चीन के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन और इटली शामिल हैं

रॉयल नेवी के साथ है 65 हजार टन का जहाज
जहां तक ब्रिटेन की रॉयल नेवी नेवी की बात की जाए…..तो हाल ही में एचएमएस प्रिंस ऑफ वेल्स को बेड़े में शामिल कर बड़ी छलांग लगाई है……यह 65 हजार टन का जहाज एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ के साथ होगा……ये दोनों एयरक्राफ्ट करीब 40 एफ-35बी लाइटनिंग टू स्टील्थ फाइटर विमानों को ले जाने में सक्षम हैं

11 एयरक्राफ्ट कैरियर के साथ अमेरिका आगे
भले ही चीन दो एयरक्राफ्ट कैरियर के साथ कुछ खास देशों की गिनती में शामिल हो गया हो…..लेकिन एयरक्राफ्ट कैरियर के मामले में कोई भी देश अमेरिका के नजदीक भी नहीं पहुंच सका है…..अमेरिका इस मामले में भी काफी आगे है…..इसके पास फिलहाल 11 एयरक्राफ्ट कैरियर हैं….और उसका सबसे नवीनतम एयरक्राफ्ट कैरियर यूएसएस गेराल्ड आर फोर्ड है……जिसे उसने जुलाई 2017 में ही अपने बेड़े में शामिल किया है……परमाणु शक्ति से चलने वाला यह एयरक्राफ्ट अपने विशालकाय कर्मी दल जिसमें 6 हजार लोगों के साथ 90 एयरक्राफ्ट और हेलीकॉप्टर ले जाने में सक्षम है…अमेरिका नौसेना के पास 8 वॉस्प श्रेणी के और एक अमेरिकन श्रेणी का हमलावर जहाज है…..2020 तक एक और जहाज इस बेड़े का हिस्सा बनने वाला है…..यह फ्रांस के चाल्र्स डे गोल्ले के आकार के हैं…..जो कि काफी अधिक विमानों को ले जाने में सक्षम हैं…

रूस के मुश्किल हालात
रूसी नौसेना फिलहाल परेशानियों से जूझ रही है…उसका एक एयरक्राफ्ट कैरियर आग में घिर गया…..पिछले अक्टूबर में एक क्रेन जहाज पर गिर गई और यह ताजा मामला उसके कफन में आखिरी कील साबित हुआ……

अमेरिका और रूस को टक्कर दे रहा चीन
विश्व स्तर पर यदि एयरक्राफ्ट कैरियरों की बात करें तो सबसे अधिक एयरक्राफ्ट कैरियर अमेरिका के पास हैं…..अमेरिका के पास 11 जबकि चीन, इटली और ब्रिटेन के पास दो-दो एयरक्राफ्ट कैरियर हैं…..भारत, फ्रांस, रूस, स्‍पेन और थाइलैंड के पास एक-एक एयरक्रॉफ्ट कैरियर हैं…..यही नहीं चीन के पास अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल डीएफ-41 भी है…..जो अमेरिका और रूस को टक्‍कर दे सकती है। माना जा रहा है कि इसकी मारक क्षमता धरती पर बनी अब तक की सभी मिसाइलों में सबसे ज्‍यादा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.